blogid : 314 postid : 1717

दैनिक जागरण लगातार 22वीं बार शिखर पर

Posted On: 20 Jun, 2012 न्यूज़ बर्थ में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

दैनिक जागरण लगातार 22वीं बार शिखर पर

Dainik Jagran on top for 22nd consecutive times

आपका पसंदीदा समाचार पत्र दैनिक जागरण लगातार 22वीं बार देश का नंबर वन समाचार पत्र का दर्जा हासिल करने में कामयाब रहा है. 2012 की पहली तिमाही में जागरण ने 16.3 लाख नए पाठक जोड़े. इसे मिलाकर पहली तिमाही में दैनिक जागरण की कुल पाठक संख्या 5.63 करोड़ पर पहुंच गई है.


Dainik Jagran on top

इंडियन रीडरशिप सर्वे (आईआरएस) 2012 के मुताबिक दैनिक जागरण के पाठकों की संख्या अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी से 1.8 करोड़ ज्यादा है. दैनिक जागरण समाज के उच्च मध्यम वर्ग में भी सबसे ज्यादा पाठक संख्या वाला समाचार पत्र बना है. इस वर्ग में जागरण के पाठकों की संख्या 1.06 करोड़ रही है. पूरे देश में पाठकों ने इस तिमाही में दैनिक जागरण को हाथों-हाथ लिया है. जागरण समूह के सभी समाचार पत्रों और पत्रिकाओं के पाठकों की संख्या पहली तिमाही में 6.9 करोड़ पहुंच गई है. पाठकों की इतनी विशाल संख्या के साथ जागरण समूह देश का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला प्रकाशन समूह बन गया है.


दैनिक जागरण को कंज्यूमर सुपरब्रांड तथा बिजनेस सुपरब्रांड का दर्जा मिल चुका है. इतना ही नहीं, बीबीसी-रायटर्स के स्वतंत्र सर्वे में इसे प्रिंट मीडिया में समाचारों का सबसे विश्वसनीय स्रोत माना गया.


Dainik Jagran, Hindi daily Dainik Jagran, Dainik Jagran on top spot, Largest newspaper in India



Tags:         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

5 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

drtksinha के द्वारा
July 16, 2012

RAIL MANTRI JI / VIBHAG KRIPAYA RAIL BOGI K BASIN & TOILET ME PLATFORM K NAL SE GIRTE PANI KO ACCHE TAPE LAGVA KAR BARBAD HONE SE BACHAVE. Dr T K Sinha, Hydrologist

drtksinha के द्वारा
July 16, 2012

RAIL MANTRI JI / VIBHAG, KRIPAYA RAIL BOGI WASHING  BASIN PLACE PAR, ANAYASHYAK JAL GIRNE SE JAL BARBADI KO BACHAVE. YAH JAL AMULAYA VA SIMIT HAI. Dr T K SINHA, HYDROLOGIST

drtksinha के द्वारा
July 16, 2012

RAIL MANTRI JI / RAIL VIBHAG AKASAR DEKHNE ME AATA HAI KI BOGI ME PANI BHARNE WALE PIPE SE ANAVASHYAK PANI GIRTA YA RISTA RAHTA HAI YA IN PAIPO KE JOD SE PANI RISTA HAI, KRIPA YA AISA NA HONE DE, SABHI PRAKAR KE GIRTE / RISTE PANI KO BACHKAR BHU JAL KO BARBAD HONE SE BACHAVE.

drtksinha के द्वारा
July 16, 2012

बढ़ती हुयी आबादी के जरुरत की अनेकों पूतिॅ में भूजल भंङार तेजी से खाली हो रहा है. अतः इसका भरण एवं संरक्षण करना हम सबका नैतिक कायॅ है. आओ मिलकर दृढ़ संकलप लें, सब जन इस क्षण, बूंद-बूंद को बचा करके, होगा भूजल श्रोतों को संरक्षण. ङा. टी. के. सिनहा, भूजल वैज्ञानिक

sadhna srivastava के द्वारा
June 20, 2012

This was so much expected…… :)


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran