blogid : 314 postid : 2134

पाकिस्तान सेनाओं की बर्बरतापूर्ण करतूत

Posted On: 9 Jan, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

loc indiaपाकिस्तानी सेनाओं की बर्बरतापूर्ण करतूत सामने आई है. एक तरफ जहां भारत पाकिस्तान के लोगों के लिए वीजा में रियायत देने की बात करता है, दोनों देशों के बीच व्यापार में बढ़ावा देने के लिए बातचीत की जाती है. वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आता. खबर है कि पाकिस्तानी सेना ने मंगलवार को जम्मू−कश्मीर के पुंछ के मेंढर सेक्टर में दाख़िल होकर गोलीबारी की जिसमें भारत के दो सैनिक शहीद हो गए. उनमें से एक भारतीय सैनिक का सिर धड़ से अलग किया हुआ था. ऐसा माना जा रहा है कि पाकिस्तानी सैनिक भारतीय जवान का कटा हुआ सिर अपने साथ ले गए हैं.


Read: रोहित शर्मा को बार-बार मौके क्यों?


गौरतलब है कि पहले पाकिस्तानी जवानों ने कोहरे और धुंध का फायदा उठाते हुए नियंत्रण रेखा पार की और फिर भारतीय जवानों पर गोलीबारी कर दी इसके बाद भारतीय जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की. इस घटना में मारे गए भारतीय सैनिकों के नाम लांस नायक हेमराज और लांस नायक सुधाकर सिंह हैं. इस घटना को लेकर भारत ने सख्त रुख अपनाया है. प्रधानमंत्री ने पाकिस्तानी सैनिकों की तरफ से गोलीबारी पर गृह मंत्रालय, एनएसए और सेना प्रमुख से रिपोर्ट मांगी है. सरकार ने इस मामले में पाकिस्तानी उच्चायुक्त को तलब किया है और सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक भी बुलाई जा सकती है.


पाकिस्तान ने अपने सैनिकों की इस घटना पर शर्मिंदा होने के बजाय उल्टा भारत पर ही दोष मढ़ दिया है. पाक सेना ने इस घटना पर कहा कि यह भारतीय सेना का प्रोपेगैंडा है. यह कुछ दिन पहले सीमा पर गोलीबारी में एक पाक सैनिक की मौत से ध्यान हटाने की कोशिश है.


ज्ञात हो कि पाकिस्तान ने 6 जनवरी को भी उड़ी सेक्टर में बिना किसी उकसावे के भारी गोलीबारी की थी. तब भारत की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई पर पाकिस्तान ने आरोप मढ़ा था कि भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा पर हाजीपीर इलाके में उसकी चौकी पर हमला किया, जिसमें उसके एक सैनिक की मौत हो गई जबकि दूसरा घायल हो गया. पाक विदेश मंत्रालय ने इस्लामाबाद में भारत के उप-उच्चायुक्त को तलब कर आपत्ति-पत्र भी जारी किया था. भारतीय विदेश मंत्रालय प्रवक्ता सैय्यद अकबरुद्दीन ने पाकिस्तान की ओर से लगाए गए इन आरोपों को सिरे से खारिज किया था.


भारत और पाकिस्तान के बीच जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा है जो दोनों देशों के बीच विश्वास पैदा करने के कदमों के तहत महत्वपूर्ण मानी जाती है. लेकिन इसी नियंत्रण रेखा से पाकिस्तान सेना की तरफ से भारतीय चौकी पर हो रही निरंतर गोलीबारी और घुसपैठ से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ता ही रहा. इस घटना के बाद पाकिस्तान ने एक बार फिर साबित कर दिया कि वह किसी भी समझौता और शांतिवार्ता के लिए लायक नहीं है.


Read: अकबरुद्दीन ओवैसी ने ऐसा क्या बोला


Tag: india, pakistan, kashmir, Cross-border firing,  Indian territory in Jammu and Kashmir,two soldiers killed near LOCभारत, पाकिस्तान, कश्मीर, गोलीबारी




Tags:                             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

मनीष के द्वारा
January 9, 2013

यह भारत की गलती है कि वह पाकिस्तान को गोलीबारी के लिए मौका देता है. अगर भारत सख्त रवैया अपनाए तो किसी की भी जुर्त नहीं होगी की हमारे देश की ओर देख सके.

Sachcha Admi के द्वारा
January 9, 2013

It looks like some is playing game. Whenever India Pakistan come closer such incident occur. Recently CM Modi invited Pakistan in Vibrant exhibition in Gujarat and Navjot Singh Siddha also promoted peace between India and Pakistan. Who get benefit if India and Pakistan fights? Neither India nor Pakistan. Use your brain. A point to a wise. Do we have concrete proof that Pak army did this ? May be some one used paid criminals to create tension. May be someone wants to divert attention from rap and other problems to Indo pak border which is commonly used card between Indian and Pakistanis political leaders. Both leaders use this card to divert internal problems. Nowadays indian government is in tremendous pressure from raps. It could be a one reason. Anyhow, whoever did this should be punished.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran