blogid : 314 postid : 2376

Sanjay Dutt: क्यों रो पड़े संजय दत्त ?

Posted On: 28 Mar, 2013 न्यूज़ बर्थ में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

sanjay datt cryसुप्रीम कोर्ट द्वारा वर्ष 1993 के मुंबई ब्लास्ट मामले में आर्म्स एक्ट के तहत पांच साल की सजा के फैसला के बाद बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त  (Sanjay Dutt profile in hindi) आज पहली बार मीडिया के सामने मुखातिब हुए. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हुए कहा कि वह सजा काटने के लिए तैयार हैं. संजय दत्त अपनी बात रखते हुए काफी भावुक हो गए थे. आइए जानते हैं कि उन्होंने अपने प्रेस कॉंफ्रेस में क्या-क्या बातें कहीं.


Read:  इन्होंने ऑफबीट की चुनौती को पार किया


संजय दत्त ने प्रेस कॉंफ्रेस में क्या कहा

उन्होंने कहा कि ‘मैं किसी माफी की अपील नहीं करूंगा. मैं सरेंडर करूंगा और अपनी सजा भुगतने के लिए तैयार हूं’. इस दौरान संजय दत्त काफी भावुक नजर आए और वो मीडिया के सामने रो पड़े.

अवैध हथियार रखने के जुर्म में पांच साल की सजा सुनाए जाने के बाद बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त ने कहा कि वह अपने देश और लोगों से बेहद प्यार करते हैं. और जिन लोगों ने उन्हें और उनके परिवार का समर्थन किया है उन्हें वह धन्यवाद देते हैं.

संजय दत्त ने कहा कि वह देश के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिए गए आदेश का पालन करेंगे और तय समय पर सरेंडर कर देंगे.

उन्होंने कहा कि इस आदेश के बाद उनका परिवार बेहद दुखी है. संजय ने कहा कि उन्होंने इस दौरान बहुत कुछ सहा है और वह इस आदेश के बाद से ही बेहद आहत हैं.

अपनी फिल्मों के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा, ‘मेरे पास बहुत काम है. मैं जेल जाने से पहले अपनी सभी फिल्में पूरी करना चाहता हूं’.

अपनी बहन प्रिया दत्त के साथ प्रेस कॉंफ्रेस में बैठे संजय दत्त ने मीडिया से अपील भी की कि उनकी सजा को माफ किए जाने पर बहस नहीं की जाए.


Read: चुपचाप काम करने वाला अभिनेता


सुप्रीम कोर्ट द्वारा दी गई सजा

बॉलीवुड के अभिनेता और सुनील तथा नरगिस दत्त के साहबज़ादे संजय दत्त के बारे में मुंबई में 1993 में हुए सीरियल बम ब्लास्ट मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 21 मार्च को बेहद अहम फैसला सुनाया. कोर्ट ने इस मामले में आर्म्स एक्ट के तहत दोषी ठहराए गए फिल्म स्टार संजय दत्त को पांच साल जेल की सजा सुनाई जबकि याकूब मेमन को मुख्य साजिशकर्ता मानते हुए उसकी फांसी की सजा बरकरार रखी है.


माफ किए जाने की अपील

संजय को सजा देने के बाद सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस मार्कंडेय काटजू पहले व्यक्ति थे जिन्होंने महाराष्ट्र के गवर्नर से संजय की सजा माफ करने की अपील की थी. इसके अलावा भी कई राजनीतिक दलों के नेताओं ने भी संजय को माफी देने की बात कही थी. इसी सिलसिले में समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह और लोकसभा सांसद जया प्रदा ने सोमवार को महाराष्ट्र के गवर्नर शंकरनारायणन से मुलाकात की. इससे पहले एनसीपी ने भी दत्त का समर्थन करते हुए कहा कि उनकी माफी याचिका पर सकारात्मक तरीके से विचार किया जाना चाहिए. संजय दत्त को माफी दिए जाने के मुद्दे पर देश के कई संगठनों ने विरोध भी जताया है.


Read More:

संजय दत्त के जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें


Tag: Sanjay Dutt, Sanjay Dutt in Hindi, 1993 Mumbai blasts, five-year sentence, press conference, emotional press conference, family members, सजय दत्त, दत्त परिवार, मुंबई बम ब्लास्ट.




Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

aman kumar के द्वारा
March 29, 2013

संजय दत्त ने कहा कि वह देश के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिए गए आदेश का पालन करेंगे और तय समय पर सरेंडर कर देंगे. बिलकुल सही कहा | कानून को खास – या आम आदमी के हिसाब से नही सब बराबर , सब के लिए बराबर के हिसाब से चलना होता है | Article 14 declares that “the State shall not deny to any person equality before the law or equal protection of the laws within the territory of India”. The phrase “equality before the law” occurs in almost all written constitutions that guarantee fundamental rights. Equality before the law is an expression of English Common Law while “equal protection of laws” owes its origin to the American Constitution.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran