blogid : 314 postid : 737849

बड़े अरमानों से विदा हुई वो फिर किसने पहुंचाया उसे मौत के अंजाम तक? क्रूरता और हैवानियत की हृदयविदारक दास्तां

Posted On: 3 May, 2014 न्यूज़ बर्थ,Hindi News में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

बड़े लाड़-प्यार से माता-पिता अपनी बेटी को बड़ा करते हैं और अपने आशीर्वाद की चादर तले अपने दिल के टुकड़े की शादी कर उसे विदा करते हैं. विदा करने के बाद जिंदगी भर उनकी एक ही तमन्ना होती है कि उनकी बेटी जहां भी रहे खुश रहे, लेकिन आज के इस कठोर व निर्दयी जमाने से उसकी खुशी देखी नहीं जाती. जिस इंसान का हाथ थाम उनकी बेटी जीवन भर साथ निभाने का वादा मांगती है वही उसे मौत के घाट उतार देता है. शायद इसीलिए लोग बेटी पैदा करने से भी डरते हैं.



Varinder Kaur love story ended with a horror story



कुछ ऐसी ही घटना का शिकार हुईं दिल्ली में रहने वाली 32 वर्षीय वरिंदर कौर. पश्चिमी दिल्ली के रमेश नगर में स्थित नामधारी कालोनी में जन्मी वरिंदर की  30 जनवरी, 2014 को अमनदीप सिंह के साथ शादी हुई थी. यह शादी उसने अपनी पसंद से परिवार की सहमति के साथ की थी. लेकिन किसी को क्या मालूम था कि अपने साथी में अपनी दुनिया ढूंढ़ने वाली वरिंदर की खुशियां चंद दिनों की ही मेहमान हैं.


Varindar Kaur on her wedding

32 वर्षीय वरिंदर कौर. पश्चिमी दिल्ली के रमेश नगर में स्थित नामधारी कालोनी में जन्मी वरिंदर की 30 जनवरी, 2014 को अमनदीप सिंह के साथ शादी हुई थी.



शादी के कुछ समय बाद ही वरिंदर के पति ने उसके साथ बुरा व्यवहार करना शुरू कर दिया. वरिंदर के माता-पिता के अनुसार अमनदीप शराब पीकर उनकी बेटी को कई दफा पीटता था और वरिंदर उसके इस व्यवहार से काफी परेशान भी थी. और फिर एक दिन वरिंदर के माता-पिता को फोन आया कि उनकी बेटी ने पंखे से लटक कर आत्महत्या कर ली है. यह खबर सुनते ही वे फौरन अमनदीप के घर पहुंचे और अपनी बेटी को मरा हुआ पाया.


Read More: उस रात के बाद भी कई दर्दनाक रातें


Varindar Kaur

वरिंदर के माता-पिता को यह शक है कि वरिंदर के मरने का कारण उसके ससुराल वाले ही हैं. लेकिन दूसरी ओर पुलिस इन सबूतों को अनदेखा कर रही है.




वरिंदर के ससुराल वालों के अनुसार उसने अपनी मर्जी से खुद को फांसी लगाई थी लेकिन वारदात वाली जगह को देखने पर वरिंदर के माता-पिता को इस बात पर यकीन नहीं हुआ और उन्होंने मामले की जांच करवाने के लिए पुलिस की मदद ली. वरिंदर के माता-पिता के मुताबिक फॉरेंसिक रिपोर्ट में वरिंदर के शरीर पर कुछ ऐसे निशान हैं जिससे यह ज्ञात होता है कि उसके मरने से पहले उसे बहुत क्रूरता से पीटा गया और उसके बाद उसे जबर्दस्ती फांसी के फंदे से लटकाया गया. और इस वजह से वरिंदर के माता-पिता को यह शक है कि वरिंदर के मरने का कारण उसके ससुराल वाले ही हैं. लेकिन दूसरी ओर पुलिस इन सबूतों को अनदेखा कर रही है.


इस पूरी घटना में सबसे महत्वपूर्ण सवाल यह उठता है कि क्या हुआ था उस दिन? किसकी दरिंदगी का शिकार बनी मासूम नवविवाहिता? किसने उसकी जान ली और यदि उसने कथित रूप से आत्महत्या की तो फिर कौन है उसे मजबूर करने वाला दरिंदा?


IMG-20140503-WA0006


Read More: पढ़ें दिग्विजय सिंह और अमृता राय के बीच प्रेम संवाद का सिलसिलेवार ब्यौरा


अपनी बेटी को इंसाफ दिलवाने के लिए वरिंदर के माता-पिता अब सोशल वेबसाइट ‘फेसबुक’ के जरिये लोगों से मदद मांग रहे हैं. उनका कहना है कि वरिंदर बहुत समय से अमनदीप के गलत व्यवहार से परेशान थी और अंत में उनकी बेटी को ही बलि चढ़ा दिया गया. दूसरी ओर यदि पुलिस के कहने पर जाएं और यह कहें कि वरिंदर ने खुदकुशी की है तो ऐसा क्या कारण था जो उसे इतना बड़ा कदम उठाना पड़ा?


आज भी वरिंदर के माता-पिता अपनी बेटी को इंसाफ दिलवाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं. रोज रात को परिवार समेत वह घर के बाहर बैठते हैं व वरिंदर की तस्वीर के सामने मोमबत्तियां जलाते हैं. अब देखना यह होगा कि इस कठोर समाज में ऐसा कौन है जो इन बेसहारा मां-बाप को इंसाफ दिलाएगा व उनकी पुकार सुनेगा.


समलैंगिक यौन संबंध बनाने वाले सावधान !!

अपराधियों, नशेड़ियों और सेक्स वर्करों के बीच….

उस खौफनाक मंजर का अंत ऐसा होगा……..सोचा ना था


Web Title : suspicious hanging suicide of a newly wed woman



Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (12 votes, average: 4.58 out of 5)
Loading ... Loading ...

31 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

ravi kinger के द्वारा
May 6, 2014

सच्चाई ये है कि इस लड़की का कहीं और अफेयर चल रहा था. माँ बाप के शादी कही और कर दी ,…अब आत्महत्या नही तो क्या करेगी ?

naveen के द्वारा
May 5, 2014

Kehte h ki kanun andha hota h. Wo whi sunta h jo use sunaya jata h or dekhta b whi h jo log apki takat k blbute pr dikhate . .ap akele nhi ho jo aisa apke 7 hua h, wrld me bhot se log aise h jinhe kanun se kuch insaf ni milta blki khud hi snghrs krna prta h. . Agr ap ko apni beti ki aatma ko mukti dilwani h to Gandhi giri choro or bnjao ek mjbut dhal kr do swrnas un papiyo ka jinhone ye khel khela. . Or apke is ek kdm se sara desh jagega or kanun ki b aankh khulegi. . Aj is daur me koi kisi ka 7 ni deta jb tk khud apne pair pe khre na ho jao. . .ab apko sochna h ki kya krna h kya ni. . Or ghr k pas baithe se apko sirf jhutha dilasa milega insaf ni. To fr ab apko apne hk k liye aage aana hoga. Kehte h. JISKA KOI NHI USKA UPR WALA HOTA H. 2m bs krm krte jao. Fl ki chinta chor do bnde. .bs itna hi

naven kumar के द्वारा
May 5, 2014

Kehte h ki kanun andha hota h. Wo whi sunta h jo use sunaya jata h or dekhta b whi h jo log apki takat k blbute pr dikhate . .ap akele nhi ho jo aisa apke 7 hua h, wrld me bhot se log aise h jinhe kanun se kuch insaf ni milta blki khud hi snghrs krna prta h. . Agr ap ko apni beti ki aatma ko mukti dilwani h to Gandhi giri choro or bnjao ek mjbut dhal kr do swrnas un papiyo ka jinhone ye khel khela. . Or apke is ek kdm se sara desh jagega or kanun ki b aankh khulegi. . Aj is daur me koi kisi ka 7 ni deta jb tk khud apne pair pe khre na ho jao. . .ab apko sochna h ki kya krna h kya ni. . Or ghr k pas baithe se apko sirf jhutha dilasa milega insaf ni. To fr ab apko apne hk k liye aage aana hoga. Kehte h. JISKA KOI NHI USKA UPR WALA HOTA H. 2m bs krm krte jao. Fl ki chinta chor do bnde. .bs itna hi.

pushpa rana के द्वारा
May 5, 2014

ESE LOGON KO KDI SE KDI SAZZA DI JANI CHAHIYE . AGR LDKIYAN APNE HI GHRO ME SAFE NHI H TO KYA WO GHR K BAHR SAFE HONGI. ESE LOGON KO ESI SAZZA DI JAYE KI KOI OR ES TRAH KI HRKT KRNE KI KOSHISH B NA KRE. ESE LOGON KI ESI HRKTE DEKH KR LOG LDKIYON KO JANM DENE SE DRTE H OR UNKO APNI KOKH MAIN HI MAAR DETE H. KYUN YE SB KUCH HO RHA H KYA KR RHI H HMAARE DESH KI SARKAAR.

    ravi kinger के द्वारा
    May 6, 2014

    सच्चाई ये है कि इस लड़की का कहीं और अफेयर चल रहा था. माँ बाप के शादी कही और कर दी ,…अब आत्महत्या नही तो क्या करेगी ?

kamlesh के द्वारा
May 5, 2014

jab pahle se pata tha की मारपीट होती है तो वह बेटी को छोड़ क्यों रखा था मरने के लिए सबसे पहले तो माता पिता को सजा मिलना चाहिए और उन लोगो को इससे भी जयादा सजा मिलना चाहिए पर क्या करे हमारा कानून बहुत सस्ता है रास्ता निकल लेता है बचने का

Pooja Viney के द्वारा
May 5, 2014

उस परिवार को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए जिसने यह सब कूकर्म किया बेटी किसी की भी हो पर है तो इंसान और इंसान को मरने वाले को शरे आम गोली मार देनी चाहिए। और अगर उस लड़की ने आत्म हत्या की है तो सबसे बड़ी अपराधी वो खुद है जो लड़ने के बजाए कमजोर पड़ कर अपना अपने माँ बाप का और नारी शक्ति का अपमान कर गई। इंसान को जीवन में लड़ना चाहिए जिससे औरों को राह मिले। लोग इसका इल्जाम प्रेम विवाह पर लगाते हैं पर प्रेम विवाह समस्या नहीं यह सब अर्रेंज शादियों में ज्यादा होता है कहीं दहेज़ या कहीं एक दूसरे को समझना नहीं। इसी में कामिनी बहिन ने कहा जैसे की कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए हम भी येही मांग करेंगे। पर इसका सर कुचलना जरूरी है जिससे आगे ऐसा सब न हो किसी के साथ। अब इसके लिए अलग कानून बनाने के लिए कोई फ़ायदा नहीं क्यों की उसका फ़ायदा लड़कियां भी लेती है झूठ बोल कर। इसका सबसे आसान तरीका है की जो गलत करे या जो झूठ बोल कर किसी को फसाए दोनों हालतों में उस इंसान को गोली मार देनी चाहिए बीच चौराहे। एक दो के बाद सब ठीक होने लगेगा। और सबसे बड़ी बात रिपोर्ट करवाने के लिए कोई पुलिस स्टेशन नहीं बल्कि अलग से सेल होना चाहिए जिसमे लड़कों लड़कियों दोनों की बराबर सुनी जाये क्यों की आज कल लड़कियां भी बहुत ख़राब हो चुकी है झूठ लूट और बदचलन आने लगा है। और एक विनय है सब परिवारों से अपने बच्चों को अच्छे संस्कार दें उन्हें औरत मर्द का सन्मान करना सिखाएं और चरित्र निर्माण जरूर सिखाएं। इन विदेशी लाइफ स्टाइल ने हमारा कल्चर ख़तम कर दिया है यह नहीं की प्रेम विवाह हमारे समाज में नहीं था इन बाहर वालों से पहले से है पर हम्मारे में संस्कार, सलीलता, सन्मान, सच्चाई हुआ करती थी जो इन कल्चर ने ख़तम कर दी। आज प्रेम विवाह को गलत समझा जाता है। कारण वही बदलते संस्कार। देश को परिवार को मजबूत बनाना है तो संस्कार अच्छे दें। और नारी का सन्मान न करने वाले को गोली मारनी चाहिए और ऐसा ही पुरुष का सन्मान न करने पर भी। जब सब बराबर होगा और सजा का डर होगा तो कोई गलत करने की कोशिश भी नहीं करेगा। वन्दे मातरम । जय नर नारी।

Abhishek के द्वारा
May 5, 2014

दिल बैठ गया पड़कर !!!, hamara samaj कैसा हो गया है, हे ईशवर आप ही कुछ करे अब हम इन्शानो की बस ki बात नहीं लग रही इस सिस्टम को ढीक करना क्योकि हर इन्शान के अंदर पाप हावी हो गया है , इन्शानियत अब एक ऊपरी दिखावा सा लगता है !!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!

prashanta dutta के द्वारा
May 4, 2014

sahi janch-partal honi chahiye and aropio ko ekdam saja hona chahiye…

harpreet के द्वारा
May 4, 2014

Eh baht hi burra hoya है Police nu aapna kam emandari nal krde hoye jaldi to jaldi dosiya nu saja deni chahidi hai

nancy के द्वारा
May 4, 2014

ye bahu t hi dukhad ghatna hai lekin is samay me himat se kaam lete hua apradhiyo ko saja dilana hoga pura desh aap ki is yudh me aap ke sath hai.

deep के द्वारा
May 4, 2014

Jo ladki kai saath kiya uss kamine nai,wahi uss ke saath karo……faasi de do ussko

AMRIT के द्वारा
May 4, 2014

inke sarir pe chaku se kat kar uspe namak lagana chaiye..ya inko janta ke hawale karna chaiye…

KAMINI के द्वारा
May 4, 2014

YE TO BAHUT HI SHARMNAK BAAT HAI, KI LDKIYA APNE GHAR ME SAFE NAHI TO BAHAR BHI NAHI, BUT SAWAL YE HAI KI KYA MAA BAAP APNE BETIYO KO ISI DIN K LIYE BADA KATE HAI KII EK DIN USKI SHADI HO AND SASURALWALE UNKO KISIBHI KARAN SE MAAR DAALE,KYA UNKO BETI NHAI HOTI,KYA UNKO DIL NAHI HOTA,US ATI KO TO FASI HONI CHAHIYE AND HAM SABHI NE US BAHN KI ATMA KO SAHNATI MILE ISLIYE DUA KARNI HAI KI US FAMILY KO KADI SE KADI SAJA MILE

manish dhawal के द्वारा
May 4, 2014

tht’s the prob with this indian society..! police is doing nothing meanwhile the evidence is in front of them…!! such persons need to be fired in crowd along with the suspects… #such_a_shame.. feeling sorry for tht girl..

mitesh bari के द्वारा
May 4, 2014

police.. Sath kyu nhi de rahi he.. galat huwa he..

jitender के द्वारा
May 4, 2014

ye bhi to ho sakta he vo depression ki sikar ho

Eklavya के द्वारा
May 4, 2014

It’s very bad…….. It doesn’t be happen…….

Ruchi sandhu के द्वारा
May 4, 2014

Goli mar do pure pariwar ko..pata nahi iske pariwaar mean inki bhi koi beti hai or ager hai to uske sath bhi yahi hona chahiye jo us maasoom bacchi ke sath houa hai. …

tarun के द्वारा
May 4, 2014

Very bad

    Dr. Kalpana Sharma के द्वारा
    May 4, 2014

    I request her parents never to loose hope n don’t ever give up…. 1 day definitely you’ll get justice… so many people are with you. … All the very best n God will surely help…. sabka time aata h…

omprakash के द्वारा
May 4, 2014

very bad. ..

anon के द्वारा
May 4, 2014

1. jab ladaki ke ma baap ko pahele se pata tha ki use mara peeta jaata hai to wo ab tak kya kar rahe the . unhon ekoi kadam kyun nahi uthaya . uske marne ka intazaar kyun kar rahe the. 2. ladaki ne aatmahatya hi kyun chunaa… usne apne maa baak ke ghar kyun nahi jaana theek samazhaa . kya ladaki ko kamare men band rakhate the aur uske paas phone ki suvidha nahi thi. 3. dowry ka mamla to nahi tha ? 4. aatmahatya ya murder to police pata laga legi… agar murder hai to fir ladka gaya zindagi se. 4. fact to ladaki apne saath le ke chali gayi … koi chiththii bhi nahi likhi hai wo shayad . jo bhi hua bahut bura hua do parivaar barbaad ho gaye ….. agar murder hai to use saza jaroor milegi…………. bas … sahi kahani to police ke paas se hi milegi investigation ke baad . lekin ye dardnaak haadsa kuch jada hi ho raha hai ………………. kya ye bhi dahej ke liye hatya wala case hai ?

rakesh kumar के द्वारा
May 4, 2014

Sabse pahle police ko apna kam sahi tarike se karna chahiye or agar koi atmhatya karta hai to uske pichhe koi na koi vajah hoti hai or ye kam police ka hora

anshu shukla के द्वारा
May 4, 2014

aise logo ko is duniya me rehne ka koi hak nhi h…ye jankar bada afsos hata h ki hamare desh ka kanoon sab kuch jante hue bhi khamosh rehta h jo ki bahut galat h..aise logo par argent inquiry karni chaiye…ye log desh ke liye kalank h…. inke vejah se hamare desh me ladkiyan safe nhi hn…. ya to unke sath rape hota h..ya to kuch suside kar leti hn….

rahul के द्वारा
May 4, 2014

its simply a Murder. a fool will only deny.

Goli maar do nanga karke .bich churaahe par, के द्वारा
May 4, 2014

Goli maar do saale ko nanga karke ,bich churaahe par latka kar ke,!!

ADITYA KUMAR JHA के द्वारा
May 4, 2014

Fashi do is bande ko

    deepak के द्वारा
    May 4, 2014

    Maar Dalloooo saaleee ko jise ya kam kiya hai..

    Deepak के द्वारा
    May 4, 2014

    hame ye samjh me nahi aata ki aisi paristhitiyo me ladkiya aatmhtya kyo karti hai. jabki vo iska samna kar sakti hai. unhe sirf aatmhatya hi najar kyo aata hai? aur jydatar ladkiya hi aisa kyo karti hai. kyo vo 2 parivaro ko barbaad kar deti hai apne saah. unhe iska mukabla karna chahiye

    pankaj bisht के द्वारा
    May 5, 2014

    kat ke fek do uske sasural walo ko


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran