blogid : 314 postid : 1168348

भारत की इस जगह पानी में ट्रेन दौड़ाने की हो रही है तैयारी

Posted On: 22 Apr, 2016 Hindi News में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आज से कुछ दशक पहले एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए किसी को दस बार सोचना पड़ता था. इसकी वजह थी कि यातायात के सुलभ साधनों का न होना. लेकिन बदलते वक्त के साथ आज बुलेट ट्रेन से हम कुछ ही समय में कहीं भी पहुंच सकते हैं. लेकिन अगर कोई आपको ये कहे कि जल्दी ही बुलेट ट्रेन समुद्र के नीचे से गुजरेगी तो आप शायद इसे मजाक ही समझेंगे. आपको लगेगा कि शायद हम किसी पनडुब्बी की बात कर रहे हैं. लेकिन आपको अगले कुछ सालों में बुलेट ट्रेन समुद्र की लहरों के बीच दौड़ती हुई दिखाई देगी.


bullet train under water





Read : वाह! ट्रेन में लें सकते हैं यात्री हवाईजहाज का मजा

साल 2018 तक मुंबई और अहमदाबाद के बीच चलने वाली देश की पहली बुलेट ट्रेन समुद्र के नीचे बनी सुरंग से गुजरेगी. आपको जानकर हैरानी होगी कि इस बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की अनुमानित लागत 97,636 करोड़ रुपए है और 81 फीसदी राशि जापान से लोन के रूप में प्राप्त होगी. इस प्रोजेक्ट में संभावित लागत वृद्धि, निर्माण के दौरान ब्याज और आयात शुल्क भी शामिल हैं. अधिकारी ने बताया कि जापान 0.1 फीसदी सालाना ब्याज दर पर 50 साल के लिए यह लोन देगा.


bullet train



Read : ऐसे लटककर चलती है इस शहर में ट्रेन

लोन एग्रीमेंट के तहत रोलिंग स्टॉक और अन्य उपकरण जैसे सिग्नल और पावर सिस्टम का जापान से आयात किया जाएगा. मुंबई और अहमदाबाद के बीच 508 किलोमीटर की दूरी इस बुलेट ट्रेन के जरिये तकरीबन दो घंटे में पूरी होने की बात कही जा रही है. इस ट्रेन की अधिकतम स्‍पीड 350 किलोमीटर प्रति घंटा और ऑपरेटिंग स्पीड 320 किलोमीटर प्रति घंटा होगी. वर्तमान में दुरंतो एक्सप्रेस मुंबई से अहमदाबाद के बीच की दूरी लगभग सात घंटे में पूरी करती है…Next

Read more

किसान की सूझबूझ से टला सम्भावित रेल हादसा

यहां की गलियों से ऐसे गुजरती है ट्रेन, देखने वाले हो जाते हैं अचंभित

बच्चे की दूध की बोतल ने चलती हुई एक्सप्रेस ट्रेन को रोका



Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran