blogid : 314 postid : 1268352

भारतीय रेल के डिब्बे में उग रहे हैं मशरूम, ऐसे उड़ाया जा रहा है मजाक

Posted On: 5 Oct, 2016 Hindi News में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भारत को डिजिटल बनाने के लिए सरकार दिन रात मेहनत कर रही है. यही नहीं बुलेट ट्रेन चलान के लिए भी सरकार खुद को तैयार कर रही है. लेकिन रेलवे की अवस्था तो कुछ और ही कहानी बयां करती दिखती है. रेलमंत्री सुरेश प्रभु भारतीय रेलवे की सेवा में सुधार के लिए ट्विटर का बेहतरीन उपयोग कर रहे हैं. और उन्हीं के ट्रेन की सच्चाई को दिखाने के लिए लोगों ने भी ट्वीटर का सहारा लिया है.
सुरेश प्रभु ट्वीटर के जरिए कई लोगों की मदद कर चुके हैं और इस काम के लिए उनकी सराहना भी बहुत हुई है. लेकिन पिछले दिनों एक यात्री ने भारतीय रेल की एक अलग ही तस्वीर ट्विटर पर शेयर की, जो देखते ही देखते वायरल हो गई. यह तस्वीर रेल के डिब्बे में शौचालय के पास उग रहे मशरूम की थी. जी हां ट्रेन में मशरूम उगे थे जिसकी तस्वीर एक यात्री ने पोस्ट की थी.
यह तस्वीर किस ट्रेन की थी, यह बात नहीं बताई गई और न ही यह लिखा गया कि यह तस्वीर कब और किस स्टेशन पर खींची गई. लेकिन फिर भी इस तस्वीर को लेकर लोगों ने मतरह-तरह के मजाक बनाने शुरू कर दिए. कुछ ऐसे लोग भी थे जिन्होंने इस तस्वीर को सकारात्मक तरीके से लिया और लिखा कि जीवन में जहां भी जगह मिले, ऊपर आने से मत चूको. जीवन कोई अवसर नहीं खोता!….
Read:
एक यात्री ने लिखा… थैंक यू, रेलमंत्री सुरेश प्रभु! आप हमारे खाने की ताजगी का कितना ख़्याल रखते हो! इसके बारे में तो आपने हमें बताया ही नहीं रेलमंत्रीजी. यह भी विचार रखा गया कि वाह! तो यह है रेलवे का ईको टूरिज्म!! यात्रियों की सुविधा के लिए रेलमंत्री का नया प्रयोग.
इन सब आलोचनाओं और टिप्पणियों से दो कई साबित होती है… पहला तो यह कि भारतीय रेलवे के यात्री अब बेबस नहीं रहे, वो अपने मंत्री तक हर बात पहुंचाते हैं फिर चाहे वो अच्छी हो या फिर बुरी. वहीं सोशल मीडिया में कई बार प्रशंसा होती है तो कई बार आलोचना. और साथ ही इन तस्वीरों से हमें सीख लेना चाहिए और सुधार की तरफ कदम बढ़ाना चाहिए क्योंकि ट्रेन में मशरूम शोभा नहीं देते…Next
Read More:

भारत को डिजिटल बनाने के लिए सरकार दिन रात मेहनत कर रही है. यही नहीं बुलेट ट्रेन चलाने के लिए भी सरकार खुद को तैयार कर रही है. लेकिन रेलवे की अवस्था तो कुछ और ही कहानी बयां करती दिखती है. रेलमंत्री सुरेश प्रभु भारतीय रेलवे की सेवा में सुधार के लिए ट्विटर का बेहतरीन उपयोग कर रहे हैं. और उन्हीं के ट्रेन की सच्चाई को दिखाने के लिए लोगों ने भी ट्विटर का सहारा लिया है.


सुरेश प्रभु ट्विटर के जरिए कई लोगों की मदद कर चुके हैं और इस काम के लिए उनकी सराहना भी बहुत हुई है. लेकिन पिछले दिनों एक यात्री ने भारतीय रेल की एक अलग ही तस्वीर ट्विटर पर शेयर की, जो देखते ही देखते वायरल हो गई. यह तस्वीर रेल के डिब्बे में शौचालय के पास उग रहे मशरूम की थी. जी हां, ट्रेन में मशरूम उगे थे, जिसकी तस्वीर एक यात्री ने पोस्ट की थी.


mushrooms-in-trains


यह तस्वीर किस ट्रेन की थी, यह बात नहीं बताई गई और न ही यह लिखा गया कि यह तस्वीर कब और किस स्टेशन पर खींची गई. लेकिन फिर भी इस तस्वीर को लेकर लोगों ने तरह-तरह के मजाक बनाने शुरू कर दिए. कुछ ऐसे लोग भी थे जिन्होंने इस तस्वीर को सकारात्मक तरीके से लिया.


mushrooms-inside--train



Read: इतनी बड़ी संख्या में दीमक लगे नोट को देखकर पुलिस के उड़े होश


एक यात्री ने लिखा… ‘थैंक यू, रेलमंत्री सुरेश प्रभु! आप हमारे खाने की ताजगी का कितना ख़्याल रखते हो! इसके बारे में तो आपने हमें बताया ही नहीं रेलमंत्री जी.’ कुछ ने कहा,  ’वाह! तो यह है रेलवे का ईको टूरिज्म!! यात्रियों की सुविधा के लिए रेलमंत्री का नया प्रयोग.’


train mushroom

इन सब आलोचनाओं और टिप्पणियों से दो बात साबित होती है… पहला तो यह कि भारतीय रेलवे के यात्री अब बेबस नहीं रहे, वो अपने मंत्री तक हर बात पहुंचाते हैं फिर चाहे वो अच्छी हो या फिर बुरी. वह सोशल मीडिया पर कई बार रेल मंत्रालय की प्रशंसा करते हैं तो कई बार आलोचना. दूसरे इन तस्वीरों से हमें सीख लेना चाहिए और सुधार की तरफ कदम बढ़ाना चाहिए, क्योंकि ट्रेन में मशरूम शोभा नहीं देते…Next


Read More:

इंडिया गेट पर तीन अलग तरीकों से सलामी दे देते हैं जवान, ये हैं कारण

सर्जिकल स्ट्राइक के पीछे इस व्यक्ति का था दिमाग, 7 साल रह चुके हैं पाकिस्तान

एक झटके में इस कंपनी के कर्मचारी हुए मालामाल, ऑफिस बॉय को 50 लाख और कर्मचारियों को 1 करोड़ का पैकेज



Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran