blogid : 314 postid : 1269160

नौकरीपेशा लोगों से ज्यादा कमाते हैं यहां के भिखारी, बैंक अकाउंट में है इतने पैसे

Posted On: 6 Oct, 2016 Hindi News में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

कहते हैं नौकरी करने से कोई अमीर नहीं बनता. नौकरी सिर्फ जीवनयापन करने के लिए होती है. चलिए, ये तो बात हुई नौकरीपेशा लोगों की. अब भिखारियों के बारे में क्या ख्याल है आपका? जो दिन भर एक-एक रुपए जोड़कर बहुत मुश्किल से अपना पेट भर पाते हैं. आप यही सोच रहे होंगे, लेकिन जरा एक बार फिर से सोच लीजिए, कुछ भिखारियों की कमाई आपसे कहीं बेहतर हो सकती है. जी हां, अजमेर में ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह के बाहर संकरी गलियों में आपको ऐसे भिखारी मिल जाएंगे जिनका बैंक अकाउंट है.


bank1

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

आपको जानकर हैरानी होगी कि इनके पास सिर्फ इनका बैंक अकाउंट ही नहीं है बल्कि डेबिट-एटीएम कार्ड भी है. जिससे वो अपनी जरूरतनुसार पैसे निकालते हैं. यहां पर रहने वाले प्रकाश कई साल पहले अजमेर दरगाह पर आए थे. असल में एक दुर्घटना में उनके पैर कट गए थे. तब वो ख्वाजा से दुआएं मांगने आए थे, जब वो बाहर बैठे थे तो लोगों ने उन्हें भिखारी समझकर पैसे देने शुरू कर दिए.



card

शुरुआत में प्रकाश को बहुत बुरा लगा, लेकिन धीरे-धीरे उन्होंने ये चीज स्वीकार कर ली. वहीं दूसरी तरफ दूसरी भिखारी 62 वर्षीय नसीमा खानू हैं, जो किशनगढ़ से 30 किलोमीटर रोज़ाना आकर दरगाह के आस-पास भीख मांगती है. हर दूसरे-तीसरे दिन नसीमा राष्ट्रीय बैंक में पैसे जमा करती हैं और एटीएम कार्ड से बैलेंस चेक करती रहती हैं.



dargah

अजमेर की इस दरगाह पर सिर्फ ये दो भिखारी ही नहीं है, बल्कि यहां पर बहुत से ऐसे भिखारी है जो रोजाना 200 रुपए बैंक में जमा करते हैं और जरूरत पड़ने पर अपने अकाउंट से पैसे निकालते हैं. आपको भिखारियों का ये लाइफस्टाइल सुनकर हैरानी हो रही होगी लेकिन यहां के लोगों के लिए ये बात आम हो चली है. कई लोगों का कहना है कि इन भिखारियों के पास अच्छी-खासी रकम इकट्ठी हो चुकी है…Next


Read More :

1.25 करोड़ की संपत्ति, चार बैंक अकाउंट और भी बहुत कुछ है इस भिखारी के पास

क्लास में इस भिखारी की लगन देख आप रह जाएँगे अचंभित

भीख में 100 रुपए देने वाला बिजनेसमैन इस व्यक्ति की सच्चाई जानकर हुआ हैरान



Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran