blogid : 314 postid : 1314642

रेलवे का खाना खाने के लिए क्या कभी आपने ‘मेन्यू कार्ड’ मांगा? यूं काटी जा रही है आपकी जेब

Posted On: 16 Feb, 2017 Hindi News में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भारत की जान भारतीय रेल में सफर तो आपने जरूर किया होगा. हर दिन इसमें लाखों लोग सफर करते हैं. रेलवे को और बेहतर बनाने के लिए सरकार हर तरह के प्रयास कर रही है, फिर चाहे वो सुरक्षा हो या फिर अन्य सुविधाएं, लेकिन हाल ही में एक ऐसा वाक्या सामने आया है, जो न केवल रेलवे बल्कि उसमें सफर करने वालों को हैरान कर सकता है.



railwaysss00



रेलवे में जो लोग लंबी दूरी का सफर करते हैं, अक्सर आपने देखा होगा वो लोग ट्रेन में खाना लेकर नहीं जाते हैं और कई सारी ट्रेनों में खाने की सुविधा उपल्बध होती है ताकि यात्री को किसी तरह की परेशानी न हो, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि रेलवे में खाना बनाने और सर्व करने वाले लोग आपकी जेब बड़ी चालाकी के साथ काट रहे हैं.


pantry


हाल ही में के सेवानिवृत्त आई.ए.एस. अफसर ने अपने फेसबुक पोस्ट पर ऐसी हैरान करने वाली घटना बताई, जो ये साबित करती है कि भ्रष्टाचार कहां तक है. शिवेंद्र के. सिन्हा कुछ दिनों पहले यशवंतपुर-हावड़ा एक्सप्रेस में विशाखापट्टनम से हावड़ा जा रहे थे, उन्होंने रास्ते में एक वेज मील खाने का ऑर्डर दिया. जब उन्होंने इसका दाम पूछा, तो उन्हें 90 रुपये बताया गया, जो शिवेंद्र को ज्यादा लगा. इसलिए उन्होंने तुरंत ही रेलवे की वेबसाइट पर खाने के दाम पता किए, वो हैरान रह गए जब उन्हें पता चला कि जिस थाली के लिए उनसे 90 रुपए मांगे जा रहे हैं असल में उसकी कीमत मात्र 50 रुपए रेलवे के मेन्यू कार्ड पर है.



railways


पैंट्री वालों नहीं दिखाते आपको कभी मेन्यू कार्ड

अगर आपने कभी रेलवे का खाना सफर के दौरान खाया होगा, तो आपको भी याद होगा कि कभी मेन्यू कार्ड नहीं मिलता है. ऐसे में पैंट्री वाले जो दाम चाहे आपसे वसूल कर सकते हैं, लेकिन अब से आप जब सफर करें तो ध्यान रखें कि आप मेन्यू कार्ड जरूर मांगे और ना मांगे तो ऑनलाइन जाकर उस खाने का दाम जरूर जान लें, ताकि आपको उतना ही पैसा देना हो जितना मेन्यू कार्ड में लिखा है.



rail



पैंट्री कार इंचार्ज ने नजरअंदाज की बात

अगर आप सोच रह हैं कि केवल कर्मचारियों के द्वारा ये घपला किया जा रहा है तो आप गलत हैं, क्योंकि शिवेंद्र के. सिन्हा के हिसाब से जब उन्होंने पैंट्री कार इंचार्ज को ये बात बताई तो उन्होंने कहा कि, ‘इससे कोई फायदा नहीं होगा, ये कोई नहीं देखता और इस शिकायत को कूड़े के डिब्बे में फेंक दिया जाएगा. पैंट्री कार इंचार्ज ने सिन्हा की शिकायत के आगे लिखा कि ‘हमने यात्री से केवल 50 रुपए लिए हैं, ये यात्री जब भी आता है तब-तब बेवजह शिकायत करता है’…Next


Read More:

दुनिया के 5 बड़े हॉन्टेड रेलवे स्टेशन में भारत का ये स्टेशन भी शामिल

रेलवे लाइन बिछाने के लिए इस राजा ने दिया था अंग्रेजो को 1 करोड़ कर्ज, इंजन को खींचकर लाए थे हाथी

गांव वालों के जिम्मे है यह रेलवे स्टेशन, काटते है खुद ही टिकट

दुनिया के 5 बड़े हॉन्टेड रेलवे स्टेशन में भारत का ये स्टेशन भी शामिल
रेलवे लाइन बिछाने के लिए इस राजा ने दिया था अंग्रेजो को 1 करोड़ कर्ज, इंजन को खींचकर लाए थे हाथी
गांव वालों के जिम्मे है यह रेलवे स्टेशन, काटते है खुद ही टिकट


Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran