blogid : 314 postid : 1333066

जवान की इस बहादुरी से प्रभावित हो गए राजनाथ, प्रोटोकॉल तोड़ते हुए गले से लगा लिया

Posted On: 2 Jun, 2017 Hindi News में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह अक्सर जवानों के साथ अपना बिताते हैं और उनके साहस को बढ़ाने का काम करते हैं. इसी समक्ष में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को प्रोटोकॉल तोड़कर बीएसएफ के एक जवान को गले लगा लिया. गृहमंत्री ने बीएसएफ के जवान गोधराज मीणा को वीरता मेडल से सम्मानित किया. गोधराज 2014 में उधमपुर में हुए आतंकवादी हमले के दौरान 85 फीसदी से अधिक फिजिकल डिसेबिलिटी का शिकार हो गए थे.



cover Rajnath


केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने प्रोटोकॉल तोड़ते हुए उस जवान को गले लगा लिया जिसने कश्मीर में आतंकियों की हवा निकाल दी थी. बीएसएफ के अलंकरण समारोह में जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में साल 2014 में आतंकवादी हमले के दौरान कई गोलियां लगने से घायल हुए बीएसएफ के जवान गोधराज मीणा को वीरता मेडल से सम्मानित किया और उसके बाद प्रोटोकॉल की परवाह किए बिना गले लगा लिया.


bsf


आमतौर पर ऐसा नजारा बहुत ही कम देखने को मिलता है. अलंकरण समारोह में मीणा की बहादुरी का किस्सा बताते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि 5 अगस्त 2014 को उधमपुर स्थित नरसू नाला के पास बीएसएफ के जवानों को ले जा रही बस पर, आतंकी हमला हुआ था. बस की सुरक्षा की जिम्मेदारी निभा रहे 44 साल के मीणा ने अदम्य साहस और सूझबूझ दिखाते हुए गोलीबारी के बीच दो आतंकवादियों को अपनी बंदूक से निशाना बनाया और आतंकियों को बस में घुसने से रोक दिया.


rajnath


मीणा की वजह से बस में सवार 30 जवानों की जान बची. हालांकि, इस दौरान उनके जबड़े सहित शरीर के अन्य हिस्सों में लगी गोली के कारण मीणा 85 प्रतिशत शारीरिक अक्षमता के शिकार हो गए. अब वो बोलने में भी असमर्थ हैं. मीणा के सीने पर राजनाथ सिंह द्वारा वीरता मेडल लगाए जाने से पहले उनके साहस की यह कहानी सुन विज्ञान भवन का विशाल सभागार तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा.


Rajnath bSf


समारोह में शिरकत कर रहे एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसे अनूठा क्षण बताते हुए कहा कि मीणा ने बोलने और चलने-फिरने में अक्षम होने के बावजूद अलंकरण समारोह में वीरता सम्मान पाने के लिए पूरी वर्दी धारण की, फिलहाल मीणा को प्रशासनिक ड्यूटी पर लगाया गया है. सबसे खास बात ये कि सम्मान समारोह के दौरान मंच पर सम्मानित किए जा रहे व्यक्ति के साथ किसी भी तरह के व्यक्तिगत व्यवहार को प्रोटोकाल के खिलाफ समझा जाता है लेकिन राजनाथ ने इस बात की चिंता किए बिना प्रोटोकाल तोड़कर जवान को गले लगा लिया..Next


Read More:

अक्षय कुमार और सायना को मिली जान से मारने की धमकी, इस काम से खुश नहीं ये लोग

भारतीय सेना का दमदार सर्जिकल स्ट्राइक-2, धमाके में उड़ाए पाकिस्तानी बंकर

1 रुपए के वकील के सामने 5 करोड़ फीस वाले पाकिस्तानी वकील हुए फ्लॉप

अक्षय कुमार और सायना को मिली जान से मारने की धमकी, इस काम से खुश नहीं ये लोग
भारतीय सेना का दमदार सर्जिकल स्ट्राइक-2, धमाके में उड़ाए पाकिस्तानी बंकर
1 रुपए के वकील के सामने 5 करोड़ फीस वाले पाकिस्तानी वकील हुए फ्लॉप


Tags:                               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran