blogid : 314 postid : 1357051

19 जवानों की मौत का बदला था ‘सर्जिकल स्ट्राइक’, POK में घुसकर हुई थी कार्रवाई

Posted On: 29 Sep, 2017 Hindi News में

Shilpi Singh

  • SocialTwist Tell-a-Friend

देश सर्जिकल स्ट्राइक की पहली सालगिरह मना रहा है। सर्जिकल स्ट्राइक के तहत एक साल पहले आज यानि 29 सितंबर को ही POK में घुस कर आतंकियों के कैंप को भारतीय सेना ने ध्वस्त कर दिया था। वहीं सेना की इस कार्रवाई को देश आज भी याद करके जवानों की बहादुरी को सलाम कर रहा है।


cover strike


सेना कैंप पर आतंकियों ने किया था हमला

बता दें कि उरी बेस कैंप पर 18 सितंबर 2016 को आतंकियों ने हमला किया था जिसमें 19 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। इस दौरान हमले में मारे गए आतंकियों के पास से जीपीएस सेट बरामद किया गया था जबकि जिंदा पकड़े गए दो गाइड्स से खुलासा हो चुका था कि ये एक आतंकवादी हमला था, आतंकवादियों का ताल्लुक जैश-ए-मोहम्मद से था।


shukla-notitle170111_npKW0


जवाब में मिला सर्जिकल स्ट्राइक

इस हमले का करार जवाब देने के लिए भारतीय सेना ने 11 दिन बाद 29 सितंबर 2016 को सर्जिकल स्ट्राइक के तहत POK की सरजमीं में जाकर आतंकियों के कैंप को उड़ा दिया था। सेना को एलओसी के 500 मीटर अंदर उतारा गया, जहां से वह 2 किलोमीटर अंदर तक घुसे। सुबह 4.30 बजे तक यह ऑपरेशन चला। भारतीय सेना के कमांडोज ने आतंकवादियों के 7 लॉन्च पैड को नष्ट कर दिया। इस सर्जिकल स्ट्राइक में करीब 50 आतंकी मारे गए थे। इसकी अधिकारिक पुष्टि आर्मी ने की। ये भी पहली बार हुआ था कि भारतीय सेना ने पाकिस्तानी कैंपों पर हमला किया और इसका एलान भी किया।

surgical-strike


पीएम की निगरानी में हुआ था हमला

जब भारतीय सैनिक POK की सीमा के अंदर थे, उस दौरान देश के पीएम मोदी ने इसकी पूरी जानकारी को बेहद गुप्त रखा था। इस पूरे ऑपरेशन की जानकारी प्रधानमंत्री मोदी और अजित डोभाल को थी, साथ ही वहां सेना के तीनों प्रमुख, खुफिया एजेंसी रॉ के सेक्रटरी राजेंद्र कुमार, इंटेलिजेंस ब्यूरो के डायरेक्टर दिनेश्वर शर्मा और एनटीआरओ चीफ आलोक जोशी पहले से मौजूद थे।

army


नई रक्षा मंत्री करेंगे दौरा

भारत की नई रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण इस खास मौके पर सेना के साथ रहेंगे और उनके साथ थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत भी रहेंगे। सीतारमण जम्मू-कश्मीर दौरे पर जा रही हैं जहा पर सेना से मुलाकात करेंगी और वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के साथ बैठक करेंगी।…Next


Read More:

गांधी परिवार के धुर विरोधी स्‍वामी कभी थे राजीव के बेहद करीबी, जानें प्रोफेसर से राजनेता बनने की कहानी

शिंजो आबे और उनकी पत्‍नी ने एयरपोर्ट पर ही बदल लिए थे कपड़े, आपने ध्‍यान दिया क्‍या!

DU, JNU समेत कई बड़े संस्‍थान नहीं ले सकेंगे विदेशी पैसा, सरकार ने लगाई रोक



Tags:                                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran