blogid : 314 postid : 1364753

कई बार 'लोन वुल्‍फ अटैक' का शिकार हो चुका है अमेरिका, जानें क्‍या है लोन वुल्‍फ अटैक

Posted On: 1 Nov, 2017 Hindi News में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

अमेरिका में न्यूयॉर्क के मैनहटन में मंगलवार को एक ट्रक ड्राइवर ने राह चलते लोगों को रौंद दिया। इस हमले में आठ लोगों की मौत हो गई, जबकि 12 लोगों के घायल होने की खबर है। यह वारदात वर्ल्‍ड ट्रेड सेंटर के पास हुई। न्‍यूयॉर्क पुलिस ने इसे आतंकी हमला बताया है। पुलिस ने वारदात के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उसकी पहचान 29 वर्षीय उज़्बेकिस्तान निवासी के रूप में हुई है। हमले के बाद आरोपी ने ट्रक के पास एक नोट छोड़ा था, जिसमें उसने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के प्रति अपनी निष्ठा जाहिर की है। इससे उसके आईएस का सदस्य होने की आशंका है। वहीं, प्रत्यक्षदर्शियों ने न्यूयॉर्क पुलिस डिपार्टमेंट को बताया कि उन्होंने हमलावर को लोगों पर ट्रक चढ़ाने के बाद जोर-जोर से ‘अल्लाहु अकबर’ चिल्लाते हुए भी सुना। दरअसल, यह एक ‘लोन वुल्‍फ अटैक’ था। अमेरिका में ‘लोन वुल्फ अटैक’ की यह कोई पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी कई सी वारदात अमेरिका में हो चुकी है। आइये आपको बताते हैं कि क्‍या है लोन वुल्‍फ अटैक और कब-कब अमेरिका इसका शिकार हुआ है।


newyork


यह होता है ‘लोन वुल्फ अटैक’, आईएस की मैगजीन में भी जिक्र


lone wolf


लोन वुल्फ अटैक का मतलब होता है, ऐसा घातक हमला जिसे बिना टीम के अंजाम दिया जाए। इसमें आमतौर पर चाकुओं, ग्रेनेड और छोटे हथियारों का इस्तेमाल किया जाता है, ताकि हमले को आसानी से अंजाम दिया जा सके। अकेला आतंकी ही ऐसे हमले को अंजाम दे सकता है, जिसमें वह ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपनी जद में ले सके। दरअसल, ऐसे हमलों को ‘लोन वुल्फ अटैक’ इसलिए कहा जाता है, क्‍योंकि य‍ह भेड़िए की तरह अकेले हमला करने की रणनीति है। जैसे भेड़िया अकेले हमला करता है, वैसे ही इसे अंजाम दिया जाता है। इसी वजह से सुरक्षा एजेंसियों के लिए किसी अकेले आतंकी के ऐसे हमले को अंजाम देने की साजिश का पता लगाना मुश्किल हो जाता है। ऐसे हमले काफी कम खर्च में अंजाम दिए जाते हैं। हालांकि, कई बार इसमें आतंकियों का ग्रुप भी शामिल हो जाता है। आईएसआईएस की मैगजीन ‘इंस्‍पायर’ में ऐसे हमले का जिक्र किया गया है।


अमेरिका में अब तक हो चुके हैं इतने ‘लोन वुल्फ अटैक’


manhattan2


- 12 जून 2016 को ओरलैंडो के एक नाइट क्लब में लोन वुल्फ हमले ने अमेरिका में दहशत फैला दी थी। 29 साल के अमेरिकी नागरिक उमर मतीन ने नाइट क्लब में अचानक गोलीबारी की, जिसमें करीब 50 लोगों की मौत हो गई और लगभग 53 लोग घायल हो गए थे।


- 16 जुलाई 2015 को हमलावर मोहम्मद यूसुफ अब्दुलअजीज ने चट्टानूंगा में दो मिलिट्री इलाकों में हमला किया। इसमें चार नौसैनिक और नौसेना के एक अधिकारी की मौत हो गई।


- 24 मई 2014 में मेरीस्विले में हाईस्कूल के कैफेटेरिया में भी लोन वुल्फ अटैक हुआ था। इसमें हमला करने वाला एक 15 वर्षीय छात्र था। इस वारदात में चार लोग मारे गए थे। हमलावर छात्र ने अपनी भी जान ले ली थी।


- 7 जून 2013 को सेंटा मोनिका में एक शख्स ने अचानक बसों, कारों और बिल्डिंगों पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसमें 5 लोगों की मौत हो गई थी।


- 14 दिसंबर 2012 को कनेक्टिक के न्यूटाउन में एक 20 वर्षीय युवक ने गोलीबारी कर 26 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। इस हमले में करीब 20 लोग घायल भी हुए थे। हमलावर ने खुद को भी गोली मार ली थी।


Read More:

जब बेटे करन की वजह से रोने लगे सनी देओल, फिर बोले- सॉरी बेटा
इतने कप्‍तानों की अगुवाई में खेल चुके हैं नेहरा, ऐसा रहा क्रिकेट कॅरियर
वर्षों पहले ऐसे दिखते थे राजनीति के ये धुरंधर, तस्वीरें कर देंगी हैरान



Tags:                                             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran