blogid : 314 postid : 1369812

प्रद्युम्‍न मर्डर: कभी किया था परिवार का बहिष्‍कार, अब गांव वाले ही उठाएंगे अशोक की बेल का खर्च

Posted On: 22 Nov, 2017 Hindi News में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्‍कूल में मासूम प्रद्युम्‍न की हत्‍या के आरोप में गिरफ्तार बस कंडक्‍टर अशोक को फिलहाल जमानत मिल गई है। संभावना है कि आज यानी बुधवार को वह जेल से बाहर आ जाएगा। अशोक की गिरफ्तारी के बाद उसके परिवार को भी मानसिक और सामाजिक यातनाओं का सामना करना पड़ा। गांव में उसके परिवारवालों का बहिष्‍कार कर दिया गया। उनका हुक्‍का-पानी बंद कर दिया गया। अशोक के परिवार ने जो यातनाएं झेली, उसकी भरपाई नहीं की जा सकती। मगर पहले जहां अशोक के गांव वाले उसे दोषी मान बैठे थे, वे अब उसे निर्दोष मान रहे हैं। शायद इसी वजह से गांव वालों ने ऐसी पहल की है, जिससे वे अपनी इस गलती को सुधारना चाहते हैं। आइये आपको बताते हैं अशोक के गांववालों ने क्‍या पहल की है।


pradyuman murder


50,000 के निजी मुचलके पर मिली जमानत

दरअसल, कोर्ट ने सोहना के घमरोज गांव निवासी अशोक को 50,000 रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दी है, जिसका भुगतान अशोक के गांव वाले मिलकर करेंगे। अब गांव वालों का मानना है कि प्रद्युम्‍न हत्याकांड में अशोक को फंसाया गया। गांव वालों ने फैसला किया है कि उसके लिए इकट्ठा किए गए पैसों से निजी मुचलके की रकम का भुगतान किया जाएगा, जिससे अशोक जेल से बाहर आ सके। जमानत का फैसला सुनाए जाने के बाद उसके गांव के कुछ लोगों का कहना था कि जब से अशोक की गिरफ्तारी हुई है, हम लोग उसके लिए पैसे जमा कर रहे हैं।


ashok1


गांववालों ने 100 से 2000 रुपये तक दिए

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पैसे इकट्ठा करने के लिए गांववालों ने 100, 500, 1000 और 2000 रुपये तक दिए हैं। इस तरह कुल 2 लाख रुपये जमा हो गए हैं। गांव वालों का कहना है कि हम जानते हैं कि अशोक बेगुनाह है, उसकी बेल के लिए हम भुगतान करेंगे। वहीं, अशोक की मां केला देवा का कहना है कि अशोक के बैंक खाते में आखिरी बार सितंबर की 7000 रुपये सैलरी आई थी। मंगलवार को अशोक की जमानत पर फैसला आने के दौरान दिनभर परिवार और गांव वाले टीवी पर समाचार देखते रहे।


Gavel


मंगलवार को कोर्ट ने सुनाया फैसला

बता दें कि मंगलवार को एडिशनल सेशन जज रजनी यादव ने अशोक की जमानत याचिका पर फैसला सुनाया। कोर्ट ने कहा कि सीबीआई ने अशोक को आरोपी नहीं बनाया है। कोर्ट से फैसला आते ही परिजनों में खुशी की लहर दौड़ गई। अशोक के पिता ने कहा कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। गौरतलब है कि भोंडसी के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के टॉयलट में दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्‍न ठाकुर की 8 सितंबर को गला काटकर हत्या कर दी गई थी। गुरुग्राम पुलिस ने हत्या के आरोप में बस कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया था। बाद में एसआईटी ने रेयान स्कूल के दो अधिकारियों को भी गिरफ्तार किया था। प्रद्युम्‍न और अशोक के परिजन शुरू से ही गुरुग्राम पुलिस की जांच पर सवाल उठा रहे थे। इसके बाद मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई। इसके बाद सीबीआई ने इसी स्कूल के 11वीं के एक छात्र को हिरासत में लिया था…Next


Read More:

जिस ICJ में दलवीर भंडारी की जीत की मना रहे खुशी, जानें क्‍या है उसका काम
आधार की जानकारी रहेगी सुरक्षित, अगर याद रखेंगे ये चार जरूरी बातें

बॉलीवुड में बेटियों की एंट्री के खिलाफ रहे ये 5 सितारे, शादी करने और पैर तोड़ने तक को थे तैयार!



Tags:                           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran