blogid : 314 postid : 1383799

कंगना की ‘मणिकर्णिका’ का विरोध, जानें क्‍या है इसके पीछे की असली वजह

Posted On: 6 Feb, 2018 Hindi News में

Avanish Kumar Upadhyay

  • SocialTwist Tell-a-Friend

‘पद्मावत’ के बाद अब कंगना रनौत की फिल्म ‘मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी’ को लेकर विवाद शुरू हो गया है। इस फिल्म के विरोध में भी शुरुआती स्वर राजस्थान से ही उठ रहे हैं। हालांकि, इसका विरोध करणी सेना नहीं, बल्कि सर्व ब्राह्मण सभा कर रही है। मगर करणी सेना के पद्मावत के विरोध के दौरान सर्व ब्राह्मण सभा ने उसका समर्थन किया था, जिस वजह से करणी सेना भी इस विरोध का समर्थन कर रही है। खबरों की मानें, तो ब्राह्मण सभा को झांसी की रानी लक्ष्मीबाई पर बन रही इस फिल्म के कुछ दृश्यों पर आपत्ति है, जिसके चलते ब्राह्मण सभा ने फिल्म का विरोध करने की चेतावनी दी है। अब माना जा रहा है कि यह विरोध राजस्थान के बाद दूसरे राज्यों में भी फैल सकता है। आइये आपको बताते हैं क्‍या है विवाद की वजह।


kangana ranaut


विवाद शुरू होने की वजह

दरअसल, लेखिका जयश्री मिश्रा ने 10 साल पहले रानी लक्ष्मीबाई पर एक किताब लिखी थी। इसमें कहा गया था कि रानी लक्ष्मीबाई पति के निधन के बाद ईस्ट इंडिया कंपनी के अंग्रेज एजेंट राबर्ट एलिस से प्यार करने लगी थीं। हालांकि, ब्रिटेन में रह रही लेखिका जयश्री मिश्रा की किताब वर्ष 2008 में उत्तर प्रदेश की तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती प्रतिबंधित कर चुकी हैं। लेखिका की किताब में कई पेज में रानी की प्रेम कहानी को लिखा गया है। ब्राह्मण सभा का कहना है कि उन्हें पुख्ता तौर पर सूत्रों से पता चला है कि फिल्म में इस प्रेम कहानी से संबंधित दृश्यों की शूटिंग की जा रही है।


Kangana Ranaut2


ब्राह्मण सभा ने मांगी इतिहासकारों की जानकारी

सर्व ब्राह्मण सभा के मुताबिक, फिल्‍म में रानी लक्ष्मीबाई का चित्रण आपत्तिजनक तरीके से किया जा रहा है। उनकी जीवनी में तथ्यों से छेड़छाड़ की गई है, जो ब्राह्मण महासभा को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं है। ब्राह्मण सभा का कहना है कि अगर ऐसा हुआ, तो वे किसी हालत में न तो फिल्म की शूटिंग होने देंगे और न ही इसे रिलीज होने देंगे। महासभा का कहना है कि 9 जनवरी को हमने निर्माता कमल जैन को चिट्ठी लिखकर लेखकों के बारे में सूचना साझा करने की मांग की थी। हम उन इतिहासकारों के बारे में भी जानना चाहते हैं, जिनसे फिल्मकारों ने संपर्क किया है। साथ ही उन्हें फिल्म के लेखक और सलाहकार इतिहासकारों के नाम उपलब्ध कराए जाएं।


kangana-1


लक्ष्मीबाई का ब्राह्मणों से रिश्ता

माना जाता है कि रानी लक्ष्मीबाई ब्राह्मण परिवार में पैदा हुईं थीं। उनका जन्म उत्‍तर प्रदेश के वाराणसी स्थित भदैनी में 19 नवंबर 1828 को हुआ था। उनका बचपन का नाम मणिकर्णिका था, लेकिन उन्हें मनु भी कहा जाता था। उनके पिता मोरोपंत तांबे मराठा बाजीराव की सेवा में थे। सन् 1842 में मनु का विवाह झांसी के मराठा शासक राजा गंगाधर राव नेवालकर के साथ हुआ और वे झांसी की रानी बनीं। विवाह के बाद उनका नाम लक्ष्मीबाई रखा गया। 21 नवंबर 1853 को उनके पति राजा गंगाधर राव की मृत्यु हो गई। बता दें कि फिल्म मणिकर्णिका की शूटिंग साल 2017 में वाराणसी के घाटों पर शुरू हुई थी। फिलहाल इसकी शूटिंग राजस्थान के झूंझनुं मे हो रही है। फिल्म के इसी साल जून महीने में रिलीज होने की उम्मीद है…Next


Read More:

U-19 वर्ल्‍डकप फाइनल में अभी तक इन 5 खिलाड़ियों ने ठोके हैं शतक
जब शूटिंग के दौरान घायल हुए ये 6 सितारे, कोई जल गया तो किसी की टूटी उंगली
मालदीव में इस वजह से लगा आपातकाल, जानें क्‍या है पूरा मामला



Tags:                                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran